Connect with us

Finance

Health Insurance: अचानक गंभीर बीमारी होने पर काम आता है हेल्थ इन्श्योरेंस, जाने इसके फायदे

Published

on

Health Insurance 2024: स्वास्थ्य बीमा या हेल्थ इंश्योरेंस किसी व्यक्ति के अचानक बीमार पड़ने की स्थिति में काम आता है। इसके बदले व्यक्ति बीमा कंपनी को प्रत्येक वर्ष एक निश्चित राशि का भुगतान करता है। इसमें किसी व्यक्ति की गंभीर बीमारी के इलाज और सर्जरी में होने वाले खर्च की लागत कवर होती है।

आज के समय में कई सारे लोग हेल्थ इंश्योरेंश नही करवाते है क्योंकि यह उनकी आय के अनुसार काफी महंगा होता है। लेकिन जब आप बीमारी के इलाज के दौरान होने वाले खर्च की तुलना इस मासिक लागत से करते है तो आपको  Health Insurance की आवश्यकता का पता लगता है।

इसलिए आज इस आर्टिकल के माध्यम से हेल्थ इंश्योरेंस क्या है, हेल्थ इंश्योरेंस के फायदे और नुकसान के बारें में विस्तार में बताया गया है। इसके साथ में हम जानने वाले है कि बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस लेते समय किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए।

क्या होता है हेल्थ इंश्योरेंस – Health Insurance Kya Hai

Health Insurance एक प्रकार का इंश्योरेंस है जिसमें बीमा कंपनी की ओर से किसी व्यक्ति के साथ एक निश्चित अवधि के लिए अस्पताल में भर्ती होने, दवाइंयो, जांच और डॉक्टर से परामर्श आदि महंगे और अप्रत्याशित खर्चो को उठाने के लिए किया गया कॉन्ट्रैक्ट है।

आज के समय में हेल्थ इंश्योरेंस काफी ज़रूरी है, क्योंकि इससे हम अपनी जिंदगी को सुरक्षित बना सकते है। स्वास्थ्य बीमा में आपको हर महीने प्रीमियम भरना पड़ता है। अगर आप इस पॉलिसी के दौरान बीमार होते है, तो बीमा कंपनी आपके इलाज का पूरा खर्च उठाएगी।

स्वास्थ्य बीमा का लाभ किसी सरकारी एजेंसी या निजी व्यवसाय के माध्यम से लिया जा सकता है। इंश्योरेंस की कुल लागत तय करने के लिए सबसे पहले बीमा प्रदाता द्वारा आबादी के सामुहिक चिकित्सा खर्च का अनुमान लगाया जाता है। उसके बाद बीमा प्रदाता द्वारा पॉलिसी धारक ग्राहको के समूह के बीच उस जोखिम को बांट दिया जाता है।

कुछ हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में बीमा धारक को इलाज के समय अपनी जेब से भुगतान करना पड़ता है और उसके बाद बीमा प्रदाता उसकी प्रतिपूर्ति करता है। जबकि कुछ हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में बीमा प्रदाता सीधे सेवा प्रदाता (हॉस्पीटल) को बीमाधारक के इलाज में लगने वाले खर्च के लिए भुगतान करता है।

ये भी पढें:   Mahindra Finance ने की इंश्योरेंस कारोबार में उतरने की तैयारी, 90 लाख ग्राहक मौजूद

हेल्थ इंश्योरेंस के प्रकार

स्वास्थ्य बीमा योजना के कई सारे प्रकार है। लेकिन मुख्य रुप से इसके दो प्रकार है-

सार्वजनिक या सरकारी स्वास्थ्य बीमा

सार्वजनिक या सरकारी स्वास्थ्य बीमा योजना में केंद्र सरकार अथवा राज्य सरकार आपके इंश्योरेंस प्रीमियम का कुछ हिस्सा स्वंय भुगतान करती है या उसके बदले आपको बीमा कंपनी या बीमा प्रदाता को सब्सिडी प्रदान की जाती है ताकि आपको सस्ती दरो पर स्वास्थ्य बीमा मिल सकें।

निजी स्वास्थ्य बीमा

निजी कंपनियो द्वारा अपने ग्राहको को दो प्रकार की  Health Insurance Policies ऑफर की जाती है। पहली पॉलिसी जो आपके अस्पताल में भर्ती होने पर खर्च होने वाले खर्च को करती है। जबकि दुसरी पॉलिसी आपके कुछ सहायक उपचार के खर्चो को कवर करती है, जैसे- डेंटल हेल्थ, फिजियोथेरेपी आदि।

हेल्थ इंश्योरेंश लेनें के कौन कौन से फायदे है

हेल्थ इंश्योरेंश लेने के निम्नलिखित फायदे होते है-

टैक्स में छूट

अगर आपके द्वारा हेल्थ इंश्योरेंस के लिए प्रीमियम का भुगतान किया जाता है तो आपको उस भुगतान पर भुगतान अधिनियम की धारा 80 D के तहत टैक्स में कुछ छूट मिलती है। इसके बारें में आप हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी से भी जान सकते है।

वित्तीय सहायता सुनिश्चित करती है

हेल्थ इंश्योरेंश बीमित व्यक्ति को गंभीर बीमारियो के इलाज में होने वाले खर्च को वहन करके वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंतर्गत अस्पताल ले जाने,  भर्ती करने, सर्जरी, दवाओं और निवारक देखभाल जैसे महंगे अप्रत्याशित चिकित्सा खर्चो को कवर करके बीमित व्यक्ति को आर्थिक मजबूरी से बचाता है।

नेटवर्क हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स

Health Insurance Policies में आपको इंश्योरेंश के साथ हेल्थकेयर प्रोवाइडर्स और सुविधाओ का एक नेटवर्क भी प्रदान करता है। इससे आप समय पर चिकित्सा औऱ गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओ का आनंद ले पाएँगे। आमतौर पर स्वास्थ्य बीमा अस्पतालो और डॉक्टर्स के साथ साझेदारी से काम करती है।

निवारक सेवाएं

कई सारी हेल्थ पॉलिसी के अंदर आपको निवारक सेवाओं के लिए भी कवरेज मिलता है, जैसे- टीकाकरण, स्क्रीनिंग और वार्षिक चेकअप आदि। इससे आप प्रारंभिक अवस्था में स्वास्थ्य संबधित चिंताओं का पता लगा सकते है।

पहले से ज्ञात बीमारी

कई हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी के अंदर लंबी बीमारियों के इलाज और प्रबंधन के लिए भी कवरेज मिलता है। यह उन लोगो के लिए अच्छा विकल्प है जिन्हे पहले से मधुमेह,  अस्थमा या ह्रदय जैसी स्थितियां मौजुद है।

ये भी पढें:   Mahindra Finance ने की इंश्योरेंस कारोबार में उतरने की तैयारी, 90 लाख ग्राहक मौजूद

मन की शांति

हेल्थ इंश्योरेंस लेने से उस व्यक्ति को मन की शांति मिलती है कि किसी भी आपातकालीन स्थिति में उनके पास उच्च गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओ को प्राप्त करने के  लिए कवर उपलब्ध है।

हेल्थ इंश्योरेंश के नुकसान

हर दुसरी चीजो की तरह ही Health Insurance की भी कुछ कमिया शामिल है। हेल्थ इंश्योरेंश के निम्नलिखित नुकसान है-

प्रीमियम की उच्च लागत

Health Insurance के प्रीमियम की उच्च लागत इसकी सबसे बङी कमी है। विशेषकर ऐसे लोग जिनके पास सीमित आय है, उनके लिए प्रीमियम की उच्च लागत वित्तीय तनाव बन सकता है। आयु, स्वास्थ्य की स्थिति, कवरेज प्रकार और बीमा प्रदाता सहित कारको के आधार पर प्रीमीयम की लागत अलग अलग हो सकती है।

बहिष्करण

स्वास्थ्य बीमा योजनाओ मे कवरेज को सीमित या बाहर रखा जाता है। इससे कारण कुछ उपचारो, दवाओं या प्रक्रियाओं को शामिल नही किया जा सकता है या फिर उनके लिए कुछ अलग ही शर्ते हो सकती है। अंत: कवरेज की सीमाओं और बहिष्करणों को समझनें के लिए इंश्योरेंस पॉलिसी के नियम और शर्तो को ध्यान से पढ़ें।

नेटवर्क हॉस्पीटल्स

हेल्थ इंश्योरेंस के तहत आपको हेल्थकेयर प्रदाताओं और अस्पताओं का नेटवर्क मिलता है। इससे आप समय पर और गुणवत्तापूर्ण चिकित्सा सेवाएं प्राप्त कर सकते है लेकिन इससे आपके विकल्प सीमित हो जाते है। यदि आपको नेटवर्क से बाहर किसी विशिष्ट डॉक्टर या अस्पताल से सेवा लेते है तो आपको अधिक पैसे खर्च करने पङ सकते है।

औपचारिकताएं और कागजी कार्यवाही

Health Insurance की औपचारिकताएं और कागजी कार्यवाई से निपटने से समय लेने वाली और भ्रमित करने वाली स्थितियां उत्पन्न हो सकती है। अंत आप सुनिश्चित करें कि आपके पास आवश्यक कागजी कार्यवाही और जानकारी उपलब्ध है।

प्रीमियम को प्रभावित करने वाले कारक

आपकी उम्र बढ़ने के साथ या आपकी पहले से मौजुद मेडिकल स्थितियां है तो आपके स्वास्थ्य बीमा के प्रीमियम की लागत भी समय के साथ बढती है। बढ़ती प्रीमियम लागत आपके बजट को प्रभावित कर सकती है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Finance2 months ago

Business Loan: इस सरकारी स्कीम में 35% सब्सिडी पर मिल रहा लोन | PMEGP Loan Process Apply Online

Trending4 months ago

PM HOME LOAN: प्रधानमंत्री आवास लिस्ट में अपना नाम कैसे चैक करें? | Bazartak PM Awas Yojana

Finance4 months ago

Aadhar Card Se Loan: ये 5 ऐप और सरकारी योजनाओं में मिल रहा आधार कार्ड पर लोन | Get Personal Loan Upto 10 Lakh

Finance5 months ago

PM Svanidhi Loan Apply Online : ₹10,000 से ₹50,000 तक लोन मिलेगा || Business Loan

Finance4 months ago

Business Loan Apply Online | बिजनेस लोन कैसे लें? योग्यता, शर्तें, डॉक्युमेंट, बिजनेस लोन स्कीम

Govt Scheme2 months ago

Top 5 Govt Scheme for girl child in india | इन 5 सरकारी योजनाओं में बेटी को मिलेंगे 5 से 10 हजार रुपये हर महीने

Finance5 months ago

Govt Loan Scheme: इन 5 सरकारी स्कीम में बिजनेस के लिए मिल रहा ₹10 लाख तक लोन, ऐसे करें आवेदन

Finance4 months ago

Instant Loan: राशन कार्ड पर मिलेगा ₹10 लाख तक लोन | Apply Instant Personal Loan Online | Bazartak

Finance4 months ago

Home Loan कैसे ले, कम ब्याज दर पर होम लोन, अभी जाने होम लोन से जुड़े सभी सवालों के जवाब | Bazartak Home Loan

Trending7 months ago

इस सिक्के की साइज और वजन पर मत जाइए, कीमत जानकर चौंक जाएंगे आप